DC vs SRH, IPL 2020: हैदराबाद को 17 रन से हराकर पहली बार फाइनल में पहुंची दिल्ली, रबाडा ने 4 विकेट

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के 13वें सीजन के दूसरे क्वालिफायर मैच में सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) को 17 रन से हराकर दिल्ली कैपिटल्स (DC) फाइनल में पहुंच गई है। अब दिल्ली का दुबई में 10 नवंबर को फाइनल में मुंबई इंडियंस से सामना होगा। अबु धाबी के शेख जायद स्टेडियम में खेले गए आज के मैच में दिल्ली के कप्तान श्रेयस अय्यर ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला लिया। दिल्ली ने 20 ओवर में 3 विकेट के नुकसान पर 189 रन बनाए। दिल्ली के लिए सबसे ज्यादा 78 रन का पारी शिखर धवन ने खेली। शिमरॉन हेटमायर ने 42* और मार्कस स्टोइनिस ने 38 रन का पारी खेली। लक्ष्य का पीछा करने उतरी हैदराबाद की टीम 20 ओवर में 8 विकेट के नुकसान पर 172 रन ही बना सकी। हैदराबाद के लिए सबसे ज्यादा 67 रन केन विलियम्सन ने बनाए। वहीं गेंदबाजी में जेसन होल्डर, संदीप शर्मा और राशिद खान ने 1-1 विकेट लिया। दिल्ली के लिए कगिसो रबाडा ने 4 विकेट चटकाए। मार्कस स्टोइनिस ने 3 विकेट लिए। अक्षर पटेल को एक विकेट मिला।

हैदराबाद की पारी: 190 रन के लक्ष्य का पीछा करने उतरी हैदराबाद को रबादा ने दूसरे ओवर की पहली ही गेंद पर डेविड वार्नर (2) को बोल्ड कर पहला झटका दिया। वार्नर के साथ पारी की शुरुआत करने आए प्रियम गर्ग (17) ने कुछ अच्छे शॉट्स लगाए। उनकी पारी को स्टोयनिस ने खत्म कर दिया। स्टोयनिस ने भी फिर एक और खतरनाक बल्लेबाज मनीष पांडे (21) को भी पवेलियन की राह दिखाई। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के खिलाफ हैदराबाद को जीत दिलाने वाली केन विलियम्सन (67रन, 45 गेंदें, 5 चौके, 4 छक्के) और जेसन होल्डर (11) की जोड़ी मैदान पर थी। इसी जोड़ी से हैदराबाद की उम्मीदें बंधी थीं। दोनों ने टीम के स्कोरबोर्ड पर 90 रन का स्कोर टांग दिया था। होल्डर 12वें ओवर की चौथी गेंद पर अक्षर पटेल की गेंद पर लंबा शॉट मारने के प्रयास में प्रवीण दुबे के हाथों लपके गए। दिल्ली के लिए सबसे बड़ी मुसीबत विलियम्सन विकेट पर थे और लगातार रन बना रहे थे। होल्डर के बाद आए युवा बल्लेबाज अब्दुल समद ने भी उनका साथ दिया और आक्रामक बल्लेबाजी की। चार ओवरों में हैदराबाद को 51 रनों की जरूरत थी। विलियम्सन जिस अंदाज में खेल रहे थे मैच दिल्ली की पकड़े से छूटता दिख रहा था। इसी समय अय्यर ने स्टोयनिस को बुलाया और यह खिलाड़ी एक बार फिर गेम चेंजर साबित हुआ। स्टोयनिस ने विलिम्यसन को रबादा के हाथो कैच कर हैदराबाद को लगभग मैच से बाहर कर दिया। विलियम्सन के जाने के बाद हैदराबाद को तीन ओवरों में 42 रनों की जरूरत थी। 18वें ओवर से 12 रन आए और अब दो ओवरों में 30 रन चाहिए थे। 19वें ओवर में रबादा ने अब्दुल समद (33 रन, 16 गेंद) और राशिद खान (11) को आउट कर हैदराबाद की बची खुची उम्मीदों को खत्म कर दिया।

दिल्ली की पारी: टॉस जीतकर दिल्ली के लिए इस मैच में धवन के साथ पारी की शुरुआत करने आए मार्कस स्टोइनिस ने ताबड़तोड़ अंदाज में बल्लेबाजी की। धवन ने भी आक्रामक रुख अपनाया। नतीजा यह रहा कि हैदराबाद के मजबूत माने जाने वाले गेंदबाजी आक्रमण पर दबाव आ गया। पावरप्ले में इन दोनों ने मिलकर टीम के स्कोरबोर्ड पर 65 रन टांग दिए थे। दोनों लय में थे और तेजी से रन बना रहे थे। हैदराबाद की गेंदबाजी की अगुआई करने वाले राशिद खान ने आखिरकार अपनी फिरकी के दम पर इस साझेदारी को तोड़ दिया। राशिद की गेंद को स्टोइनिस समझ ही नहीं पाए और 86 के कुल स्कोर पर बोल्ड हो गए। स्टोइनिस ने 27 गेंदों पर 38 रन बनाए। उन्होंने पांच चौके और एक छक्का लगाया। नौवें ओवर की दूसरी गेंद पर धवन ने छक्का मार अपना अर्धशतक पूरा किया। धवन ने स्टोइनिस को कमी को खलने नहीं दिया। दूसरे छोर से कप्तान श्रेयस अय्यर भी उनका साथ देने की कोशिश कर रहे थे जिनकी कोशिश को जेसन होल्डर ने पूरा नहीं होने दिया।अय्यर 21 रन बनाकर होल्डर की गेंद पर मनीष पांडे के हाथों लपके गए। उनका विकेट 126 के कुल स्कोर पर गिरा। इसके बाद शिमरन हेटमायेर ने धवन के साथ तेजी से रन बनाए। दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 52 रन जोड़े। 19वें ओवर की तीसरी गेंद पर संदीप शर्मा ने धवन को एलबीडब्ल्यू करा दिया।हेटमायेर 22 गेंदों पर 42 रन बनाकर नाबाद रहे। उन्होंने चार चौके और एक छक्का लगाया। ऋषभ पंत दो रन बनाकर नाबाद रहे।



0 टिप्पणियाँ