नए शोध में खुलासा, कैंसर, डायबिटीज और दिल की बीमारियों के लिए औषधि है मोठ दाल health tips

विशेषज्ञ हमेशा लोगों को सही दिनचर्या उचित खानपान और रोजाना वर्क आउट करने की सलाह देते हैं। अगर लापरवाही बरतते हैं तो यह खतरनाक साबित हो सकता है। खानपान में सुधार सही दिनचर्या का पालन और रोजाना वर्क आउट कर आप सेहतमंद रह सकते हैं।


खराब दिनचर्या, अनुचित खानपान और तनाव के चलते आजकल कई बीमारियां जन्म लेती हैं। इनमें मधुमेह, मोटापा, माइग्रेन, हाइपरटेंशन यानी उच्च रक्तचाप आदि बीमारियां शामिल हैं। इसके साथ ही अल्जाइमर की बीमारी का भी खतरा बना रहता है। इस बीमारी में व्यक्ति को भूलने की आदत रहती है। इन बीमारियों से मानसिक और शारीरिक सेहत पर बुरा असर पड़ता है। विशेषज्ञ हमेशा लोगों को सही दिनचर्या, उचित खानपान और रोजाना वर्क आउट करने की सलाह देते हैं। अगर लापरवाही बरतते हैं, तो यह खतरनाक साबित हो सकता है। खानपान में सुधार, सही दिनचर्या का पालन और रोजाना वर्क आउट कर आप सेहतमंद रह सकते हैं। अगर आप भी सेहतमंद रहना चाहते हैं, तो अपनी डाइट में मोठ दाल को जरूर शामिल करें। इसके सेवन से कई बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। कई शोध में भी इसका जिक्र किया गया है कि जिन लोगों को कैंसर अथवा डायबिटीज की बीमारी का खतरा रहता है। उन्हें मोठ दाल का सेवन अवश्य करना चाहिए। आइए जानते हैं कि रिसर्च क्या कहती है-

मोठ दाल क्या है

मोठ दाल मूंग की तरह ही एक दाल है, जिसकी गिनती मोटे अनाज में होती है। इसे कई जगहों पर वनमूंग भी कहा जाता है। इसकी खेती पूरे देश में की जाती है। इसकी बुवाई गर्मी दिनों में होती है और बरसात में इसकी कटाई होती है। आमतौर पर इसकी खेती बाजरे के साथ होती है।

रिसर्च क्या research पर छपी एक शोध के अनुसार, मोठ दाल सेहत के लिए वरदान साबित हो सकती है। इसके सेवन से कई प्रकार की बीमारियों का खतरा कम हो जाता है। इस अध्ययन में स्प्राउट और कच्चे मोठ दाल पर भी गहन अध्ययन किया गया है। इसके निष्कर्ष में शोधकर्ताओं ने कैंसर, डायबिटीज और दिल की बीमारियों के मरीजों को मोठ दाल खाने की सलाह दी है। इस शोध में यह भी बताया गया है कि इसके सेवन से इन बीमारियों का खतरा कम हो सकता है। साथ ही मोठ दाल के सेवन से ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस का खतरा भी कम हो जाता है। इसके लिए अपनी डाइट में मोठ को जरूर जोड़ें।

डिस्क्लेमर: स्टोरी के टिप्स और सुझाव सामान्य जानकारी के लिए हैं। इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें। बीमारी या संक्रमण के लक्षणों की स्थिति में डॉक्टर की सलाह जरूर लें

Create by Rahul fitness

0 टिप्पणियाँ