क्या गोबर के चिप से मोबाइल फोन रेडिएशन होता है कम? वैज्ञानिकों को चाहिए सबूत

उल्लेखनीय है कि राष्‍ट्रीय कामधेनु आयोग के अध्यक्ष वल्लभभाई कथीरिया ने पिछले सप्ताह दावा किया था कि घरों में गोबर रखने से ‘विकिरण’ कम होता है और एक ‘गोबर की चिप’ बनाई गई है जो मोबाइल फोन से होने वाले विकिरण को कम कर सकती है. खास बातें


गाय के गोबर से बनी है एक चिप संस्थान ने दावा किया था कि इससे मोबाइल रेडिएशन को कम किया जा सकता है अब वैज्ञानिकों ने उठाए सवाल

क्या गाय के गोबर (Cow Dung) से ऐसा चिप बन सकता है जो मोबाइल फोन से निकलने वाले विकिरण (Radiation) को कम कर दे? ये एक ऐसा सवाल है जो इन दिनों सभी के जेहन में है. अब इस बीच वैज्ञानिकों ने भी इस मामले में सबूत मांगे हैं. बताते चलें कि हाल ही में राष्‍ट्रीय कामधेनु आयोग (Rashtriya Kamdhenu Aayog) ने दावा किया था कि गोबर से बने चिप खतरनाक विकिरणों को कम कर सकते हैं.

करीब छह सौ वैज्ञानिकों और विज्ञान के शिक्षकों ने राष्ट्रीय कामधेनु आयोग के अध्यक्ष वल्लभभाई कथीरिया को पत्र लिखकर कहा है कि वह गोबर की चिप से मोबाइल फोन विकिरण कम करने में मदद मिलने संबंधी अपनी दावों को साबित करने के लिए साक्ष्य पेश करें. ‘इंडिया मार्च फॉर साइंस’ की मुंबई शाखा ने एक बयान में कहा कि वैज्ञानिकों ने यह भी जानकारी मांगी है कि इस संबंध में वैज्ञानिक प्रयोग कब और कहां हुए और मुख्य जांचकर्ता कौन था. उन्होंने यह भी जानकारी मांगी कि इस संबंधी अध्ययन के परिणाम कहां प्रकाशित हुए.

0 टिप्पणियाँ

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें